Home National किन्नरों की जबरन वसूली व अश्लील हरकतों से रेल यात्री परेशान

किन्नरों की जबरन वसूली व अश्लील हरकतों से रेल यात्री परेशान

1669
0

भारतीय रेल में सफर करने वाले यात्रियों को किन -किन परेशानीयो का सामना करना पड़ सकता है किन्नर उगायी के समय अश्लील भाषा का भी प्रयोग करते है लोग परिवार के सामने अपनी फजीहत से बचने के लिए उन्हें रुपए दे देते है जो रुपए नहीं देते है उनको वो परेशान करते है ट्रैन में सवार यदि कोई व्वक्ति उन्हें रुपए देने से मना कर देता है तो वो मारपीट पे उतारू हो जाते और अपने कपडे उतारने में भी कोई दिक्कत नहीं होती किन्नर सुबह के समय एक्सप्रेस ट्रेनों में लम्बी दुरी की यात्रा होने के कारण लोगो को परेशान करते है

किन्नरों का अपना एक अस्तित्व

हमारे समाज का ताना – बाना मर्द और औरत से मिलकर बना है लेकिन एक तीसरा जेंडर भी हमारे समाज का हिस्सा है इसकी पहचान कुछ ऐसी है जिसे सभ्य समाज में अछि नजर से नहीं देखा जाता ,समाज के इस वर्ग को थर्ड जेंडर ,किन्नर या हिजड़े के नाम से जाना जाता है किन्नर जनम से मर्द होते है लेकिन उनके हाव भाव जानने होते है इनका शुमार नाम मर्दों से होता है और औरतो मे यह उनको सफर क दौरान ही मालूम होता है परन्तु एक कैसी परेशानी जिसे हम किन्नर कहते है

क्या हकीकत में सड़को पे घूमने वाले किन्नर ,किन्नर ही होते है

कुछ वास्तविक किन्नर होते है परन्तु कुछ इनके भेष में बेरोजगार युवक जो महिलाओं के कपडे पहने कर तालियां पीट-पीटकर यात्रिओ को बेवजह परेशान करते है अगर कही नवविवाहित जोड़ा मिल जाए तो उनसे नेग क नाम पर जबरन वसूली करते है किसी की गोद में नवजात शिशु दिख जाए तो जबरदस्ती उनसे पैसे ऐंठते है और इनके इलाके एक स्टेशन से दूसरे स्टेशन तक होते है अगले स्टेशन पर से दूसरे किन्नर आ जाते है वही परिस्थिति यात्री में सामने फिर आ जाती है यदि ट्रैन में यात्रा के दौरान आप को अगर कोई किन्नर तंग करे तो इसकी शिकायत रेलवे के हेल्प लाइन नंबर 182 पर करे,आपका कॉल सम्बन्धी जी आर पी थाने को फोरवोर्ड होगा ,जिसके बाद शिकायत दर्ज की जाएँगी! जी आर पी के जवान जल्द से जल्द आपके पास पहुँच कर कारवाही करेंगे लेकिन ये खुद को दिल से औरत ही समझते है तीसरे जेंडर का होने पर जिन्हे उनके अपने खुद से दूर कर देते है ,उन्हें किन्नर समाज पनाह देते है ,इनके समजा में कुछ कायदे कानून होते है जिन पर अमल करना लाजमी है ये सभी परिवार की तरह एक गुरु की पनाह में रहते है ये गुरु अपने साथ रहने वाले सभी किन्नरों को पनाह ,सुरक्षा और उनकी हर जरुरत को पूरा करते है । सभी किन्नर जो भी कमा क लाते है ।अपने गुरु को देते है फिर गुरु हरेक को उसकी कमाई और जरुरत के मुताबिक पैसा देते है ।बाकि बचे पैसे को सभी के मुस्तकबिल के लिए रख लिया जाता है हरेक किन्नर को एक तये रकम कामना जरूरी होता है ।जो ऐसा कर नहीं पाते ,उनसे खिदमत के दूसरे काम लिए जाते है जो लोग अपना लिंग बदलवाकर अपनी ीचा से इनके ग्रुप में शामिल होना चाहते है ये उनकी भी मदद करते है

Previous articleजिंदगी और मोत से लड़ती उन्नाव रेप पीड़िता डॉक्टर्स ने जताई बचने की कम आशंका
Next articleबॉस 13: के कंटेस्टेंट में कुछ हस्तियों की प्रेम कहानी