Home State गणेश प्रतिमा विसर्जन के दौरान पलटी नाव, 11 शव बरामद

गणेश प्रतिमा विसर्जन के दौरान पलटी नाव, 11 शव बरामद

1195
0

भोपाल। मध्‍य प्रदेश की राजधानी भोपाल में गणेश प्रतिमा विसर्जन के दौरान 11 लोगों की नाव पलटने से मौत हो गई। भोपाल के छोटा तालाब में हुए इस हादसे के बाद नाव पर सवार लोग मदद के लिए गुहार लगाते रहे लेकिन उन्‍हें समय पर मदद नहीं मिल सकी। काफी देर बाद एक दूसरी नौका पहुंची लेकिन तब तक 11 लोगों की पानी में डूबने से मौत हो चुकी थी। इस दुखद घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।

क्षमता से अधिक लोग थे सवार
जानकारी के मुताबिक, खटलापुरा घाट के पास बड़ी संख्‍या में लोग गणेश प्रतिमा विसर्जन के लिए खड़े थे। इसी बीच करीब 18 लोग एक नाव पर गणेश प्रतिमा को लेकर तालाब के अंदर गए। उन्‍होंने प्रतिमा का विसर्जन भी कर दिया। मूर्ति के विसर्जन के बाद जब वे लोग दोबारा घाट की तरफ बढ़ रहे थे, इसी बीच यह दुखद हादसा हो गया। नाव पर ज्‍यादा लोगों के होने की वजह से वह अचानक पलट गई।

दूसरी नाव भी पानी में डूबी
नाव के पलटने के बाद उसमें सवार लोग तालाब में गिर गए और अपनी जान बचाने के लिए हाथ-पांव मारने लगे। इसी बीच उनके पास एक और नाव वहां पर पहुंची। पानी में डूब रहे लोग उसमें सवार होने की कोशिश करने लगे। दूसरी नाव को चला रहा नाविक भारी भीड़ को देखते हुए पानी में कूद गया। सभी लोग दूसरी नाव पर चढ़ने लगे। इस दौरान दूसरी नाव भी पानी में डूब गई।

लगाते रहे ‘बचाओ-बचाओ’ की आवाज
पानी में डूब रहे लोग ‘बचाओ-बचाओ’ की आवाज लगा रहे थे लेकिन बचाव नौका के उन तक पहुंचने में देर हो गई और 11 लोगों की मौत हो गई। इस दौरान कुछ ऐसे भी लोग थे जो पानी में तैर सकते थे, उन्‍होंने अंदर जाकर लोगों को बचाने की भी कोशिश की। तीसरी नौका से कुछ लोगों को निकाला जा सका। बता दें कि मुख्यमंत्री कमलनाथ ने घटना की न्यायिक जांच के आदेश दिए हैं। उन्होंने कहा कि जो भी इसके पीछे दोषी पाया जाएगा उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी।

परिजनों को 4-4 लाख रुपये मुआवजा
मध्य प्रदेश सरकार ने मृतकों के परिजनों को 4-4 लाख रुपये मुआवजा देने की घोषणा की। मंत्री पीसी शर्मा ने बताया, ‘यह घटना काफी निंदनीय है। जिला कलेक्टर ने मृतकों के परिवार को 4 लाख रुपये का मुआवजा देने की घोषणा की है। घटना की जांच की जाएगी।’

Previous articleप्रवर्तन निदेशालय ने नेहल के खिलाफ जारी किया रेड कॉर्नर नोटिस
Next articleपाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड की कोशिश, श्रीलंकाई टीम करे पाकिस्तान का दौरा