Home Regional गुरुस्वरूप श्रीवास्तव Guru Swarup Srivastava ने अंगदान को समर्पित मुहीम ‘नई जिंदगी...

गुरुस्वरूप श्रीवास्तव Guru Swarup Srivastava ने अंगदान को समर्पित मुहीम ‘नई जिंदगी की सौगात’ को गति देने को बढ़ाया हाथ

59
0

आगरा। इनक्रेडिबल इंडिया फाउंडेशन द्वारा अंग दान के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए चलाई जा रही मुहिम ‘नई जिंदगी की सौगात’ कार्यक्रम के अंतर्गत जागरूकता एवं संकल्प कार्यक्रम का आयोजन संजय प्लेस स्थित होटल पीएल पैलेस में शनिवार को किया गया।
कार्यक्रम का शुभारंभ ‘नई जिंदगी की सौगात’ मुहिम की ब्रांड एंबेसडर के तौर पर मौजूद प्रख्यात फिल्म लेखिका डॉ। अचला नागर, प्रसिद्ध गीतकार सुरेन्द्र साथी, रोमसंस ग्रुप के एमडी किशोर खन्ना, तपन गु्रप के चेयरमैन सुरेश चंद्र गर्ग, पूर्व एमएलसी अनुराग शुक्ला, वरिष्ठ रंगकर्मी विनय पतसारिया आदि ने संयुक्त रूप रूप से दीप प्रज्जवलित कर किया।

प्रख्यात कला प्रेमी श्रीवास्तव Guru Swarup Srivastava ने अंगदान को समर्पित मुहीम गति देने में बढ़ाया हाथ
विश्व भर में अपने कला प्रेम के लिए अपनी ख़ास पहचान बनाने बाले गुरु स्वरूप श्रीवास्तव ने एक पत्र लिखकर इनक्रेडिबल इंडिया फाउंडेशन अंगदान को समर्पित मुहीम ‘नई जिंदगी की सौगात’ गति देने के लिए तन मन धन से सहयोग करने के लिए हाथ बढ़ाया है। प्रख्यात कला प्रेमी गुरुस्वरूप श्रीवास्तव Guru Swarup Srivastava मकवूल फ़िदा हुसैन की सौ पेंटिंग का सौदा 100 करोड़ में करके दुनियां भर में एक ख़ास पहचान बना चुके हैं। वर्तमान में गुरुस्वरूप श्रीवास्तव एक बड़े बजट की फिल्म निर्माण करने जा रहे हैं जोकि रामायण पर आधारित होगी।

अंगदान के लिए किया जागरूक
फिल्म बागबान, निकाह एवं नगीना जैसी कई हिट फिल्मों की प्रख्यात फिल्म लेखिका डॉ। अचला नागर ने मुहिम की ब्रांड एबेंसडर के तौर पर स्वीकृति देते हुए लोगों को अंग दान के प्रति जागरूकता का संदेश दिया। उन्होंंने कहा कि मरणोपरांत यदि हमारी आंखों से कोई जरूरतमंद दुनिया देखता है तो इससे पुनीत और कोई कार्य नहीं हो सकता। ये शरीर नश्वर है, जिसे मिट्टी में मिलना ही है। मैंने स्वयं भी अपना शरीर मरणोपरांत दान कर चुकी हूं। वरिष्ठ रंगकर्मी विनय पतसरिया ने अंगदान के विषय पर अपने अनुभव साझा किये।

मुहिम पर शॉर्ट फिल्म के फिल्मांकन की घोषणा की
इस मौके पर इंक्रेडिबल इंडिया फाउंडेशन के सचिव अजय शर्मा ने बतौर निर्माता प्रसिद्ध फिल्म निर्देशक एवं रंगकर्मी संदीपन नागर के निर्देशन में एक शॉर्ट फिल्म निर्माण की भी घोषणा की। उन्होंने बताया कि फिल्म के माध्यम से अंगदान के लिए जनजागरूकता संदेश दिया जाएगा ताकि लोग अवेयर हो सकें और स्वेच्छा से अंगदान के लिए आगे आकर जररूतमंदों के जीवन में उजियारा लौटाएं। इस मौके पर मौजूद फिल्म निर्देशक संदीपन नागर ने कहा कि अंगदान एक ऐसा विषय पर जिस पर जागरूकता की विशेष जरूरत है। अगर आंकड़ों की बात की जाए तो प्रति हजार व्यक्तियों के खराब हुए अंगों के लिए महज एक प्रतिशत अंगदाता ही मिल पाता है, जोकि बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है। गीतकार सुरेन्द्र साथी ने मुहिम की सराहना करते हुए सहयोग की बात कही।

अंगदान का लिया संकल्प
इंक्रेडिबल इंडिया फाउंडेशन के सचिव एवं मुहिम के संयोजक अजय शर्मा एवं उपाध्यक्ष डॉ। रामनरेश शर्मा, फिल्म गीतकार सुरेन्द्र साथी एवं सीएफटीआई के निदेशक सनातन साहू के साथ ही कार्यक्रम में मौजूद कुछ अन्य विशिष्टजनों ने मुहिम की सराहना करते हुए अंगदान का संकल्प भी लिया। इस दौरान कला प्रेमी एवं फिल्म निर्माता गुरुस्वरूप श्रीवास्तव ने एक पत्र के माध्यम से मुहिम का समर्थन करते हुए सहयोग की बात कही। इंक्रेडिबल इंडिया फाउंडेशन के मधुसूदन भट्ट, कुलदीप पाठक, रोहित जैन, मोहित जैन, राजेश मंगल,अधिवक्ता अशोक चौबे, मंगल ङ्क्षसह धाकड़, चौ। उदयवीर सिंह आदि ने व्यवस्थाएं संभाली। इस दौरान आत्माराम ग्रुप के अनिल दुदवेवाला, सचदेवा मिलेनियम स्कूल के आरके सचदेवा, मुरारी लाल गोयल, सचिन सारस्वत, डॉ। अशोक शर्मा, डॉ। कैलाशचंद्र सारस्वत, नरेश पारस, महेश धाकड़ आदि विशेष रूप से मौजूद रहे। कार्यक्रम के अंत में धन्यवाद ज्ञापन कार्यक्रम संयोजक अजय शर्मा एवं बृजेश शर्मा ने संयुक्त रूप से किया। संचालन रावी ईवेंट के मनीष अग्रवाल ने किया।

Facebook Comments