Home Loksabha Election 2019 विवादित बयान पर आजम बोले, अगर दोषी पाया गया तो चुनाव नहीं...

विवादित बयान पर आजम बोले, अगर दोषी पाया गया तो चुनाव नहीं लडूंगा

29
0

रामपुर। समाजवादी पार्टी के कद्दावर नेता आजम खान ने विवादित बयान दिया है। माना जा रहा है कि उनका इशारा अभिनेत्री और रामपुर से भाजपा प्रत्याशी जयाप्रदा की तरफ था। हालांकि बाद में आजम ने सफाई देते हुए कहा कि अगर मैं दोषी पाया गया तो चुनाव नहीं लड़ूंगा। मैंने किसी का नाम नहीं लिया। बयान को लेकर आजम पर केस दर्ज कर लिया गया है। आजम के बयान पर सुषमा स्वराज ने भी मुलायम सिंह से कार्रवाई करने की अपील की है। उधर, सपा ने आजम के बयान को उनकी निजी राय बताया।

‘जिन्हें ऊँगली पकड़कर हम रामपुर लाए’

1.आजम ने रविवार को रामपुर में कहा, “मैं सवाल करता हूं कि क्या राजनीति इतनी गिर जाएगी। 10 बरस जिसने रामपुर के लोगों का लहू पिया, जिसकी उंगली पकड़कर हम रामपुर लेकर आए। रामपुर की गलियां और सड़कों की पहचान कराई। उसके शरीर से किसी का कंधा नहीं लगने दिया, आप गवाही दोगे। छूने नहीं दिया, गंदी बात नहीं करने दी। आपने 10 साल अपना प्रतिनिधित्व कराया। लेकिन आप और मुझमें क्या फर्क है। रामपुर वालो, उत्तरप्रदेश और हिंदुस्तान वालो, उसकी असलियत समझने में आपको 17 बरस लग गए, मैं 17 दिन में पहचान गया। उनका…खाकी है।”

2.सोमवार को सफाई में कहा, “किसी भी आदमी को पहचानने में वक्त लगता है। मैंने यह बात एक आदमी के संदर्भ में कही थी। एक बार उसने कहा था कि वह अपने साथ 150 राइफल लेकर आया। उसने कहा कि अगर मुझे सामने देखा तो गोली मार देगा। मेरे नेताओं ने भी गलती की। अब यह पता चला है कि वह संघ का पैंट पहने हुए था।”

मिडिया देश को नुकसान पंहुचा रही है: आजम

3.सपा के पूर्व मंत्री ने यह भी कहा, “मैं रामपुर से 9 बार विधायक रह चुका हूं। उत्तरप्रदेश सरकार में मंत्री भी था। मैं जानता हूं कि क्या बोलना है। अगर कोई यह साबित कर दे कि मैंने किसी का नाम लेकर उसकी बेइज्जती की तो चुनाव से अपना नाम वापस ले लूंगा। मैं मीडिया की भूमिका को लेकर भी निराश हूं। न मैं मीडिया जैसा हूं और न ही मीडिया मेरे जैसा है। वे देश को नुकसान पहुंचा रहे हैं।”

4.आजम के बयान को लेकर सुषमा स्वराज ने मुलायम सिंह यादव से कार्रवाई करने की अपील की। सुषमा ने ट्वीट किया, “मुलायम भाई – आप पितामह हैं समाजवादी पार्टी के। आपके सामने रामपुर में द्रौपदी का चीर हरण हो रहा हैं। आप भीष्म की तरह मौन साधने की गलती मत करिये।”

5.इस बीच राष्ट्रीय महिला आयोग ने भी आजम खान को नोटिस जारी किया है। आयोग ने आजम के बयान को महिला के लिए अपमानजनक और अनैतिक बताया है। आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने कहा, “हमने मामले में चुनाव आयोग को भी पत्र लिखकर कड़ी कार्रवाई करने के लिए कहा है ताकि उन्हें सबक मिले। चुनाव के समय यह सब बंद होना चाहिए। महिला केवल उपभोग के लिए नहीं है। महिला वोटरों को इस तरह के बयान देने वालों के खिलाफ मतदान करना चाहिए।”

6.मामले पर जयाप्रदा ने कहा, “2009 में पार्टी में होते हुए भी अखिलेश और मुलायम ने मुझे समर्थन नहीं दिया था। आजम खान को इसकी आदत है। इनका स्तर किस तरह गिर गया है। यह कभी सुधरेगा नहीं कि मैं एक महिला पर ऐसी टिप्पणी कर रहा हूं। जो हम बोल भी नहीं सकते, वो ऐसी टिप्पणी करता है। अब वो मेरा भाई नहीं, वो मेरा कुछ भी नहीं। इसको हम छोड़ेंगे नहीं। इसका चुनाव नहीं होना चाहिए। इसका चुनाव रद्द करना चाहिए।”

7.जयाप्रदा 2004 और 2009 में रामपुर लोकसभा सीट से सपा के टिकट पर सांसद चुनी गई थीं। इस साल मार्च में ही में उन्होंने भाजपा ज्वाइन की है। पार्टी ने उन्हें रामपुर से ही टिकट दिया है।

आजम का एक और विवादित वीडियो वायरल
आजम खान का एक और वीडियो वायरल हुआ है। एक मिनट 30 सेकंड के इस वीडियो में आजम अपनी गाड़ी पर खड़े होकर कह रहे हैं, “सब यहां डटे रहो। कलेक्टर-वलेक्टर से मत डरियो। ये तनखैया (तनख्वाह पाने वाला) है। तनखैयों से नहीं डरते। मायावती जी के फोटो देखे हैं। कैसे बड़े अफसर रूमाल निकाल के उनके जूते साफ करते हैं। हमारा उन्हीं (मायावती) से गठबंधन है। अल्लाह ने चाहा तो मायावती जी के जूते इन्हीं से साफ कराऊंगा।”

Facebook Comments